Meditation ( आती-जाती श्वास का ध्यान ) - Discourse by Shraddheya Dr. Pranav Pandya, | 10th Aug 2017

Viewed: 189  
Meditation ( आती-जाती श्वास का ध्यान ) - Discourse by Shraddheya Dr. Pranav Pandya, | 10th Aug 2017


Comments

Post your comment
balaram mandlo
2017-08-13 12:01:00
जब कभी असहाय तुम जब कभी असहाय तुम अनुभव करोगे। तब हमारा स्नेह-ममता साथ होगा॥ आर्त स्वर में जब कभी कुछ भी कहोगे। घाव पर मरहम लगाता हाथ होगा॥ कष्टï या कठिनाइयों से तुम न डरना। धार या मझधार से संघर्ष करना॥ जीत होगी जिन्दगी की हर डगर में। लोकहित में तुम नवल उत्साह भरना॥ पुत्र तुम ‘‘मैं हूँ अकेला’’जब कहोगे। माँ पिता का कवच भी तब साथ होगा॥ पुत्र तुम मजबूत कन्धे हो हमारे। अंग अवयव हो तुम्हीं दो नयन तारे॥ भार तुम पर आज दोनों सौंपते हैं। पूर्णत: निश्चिन्त तुम सबके सहारे॥ कार्य जब उत्साह से पूरा करोगे। प्यार आशीर्वाद देता हाथ होगा॥ आखिरी नि:श्वास तक रक्षा करेंगे। खून की हर बूँद तक आशीष देंगे॥ यह मधुर सम्बन्ध जन्मों तक निभेगा। सूक्ष्म में रहकर तुम्हें वरदान देंगे॥ आखिरी इच्छा है दो दर्शन कहोगे। ब्रह्मï का नव रूप साया साथ होगा॥ Ashwashan by Guru ji and Mata ji to all lok sevi. Comments Post your comment Info Album : Prerna Geet Mala Download this audio Song/Audio : Lyrics/Description Profile Rating: Song Visits: 14388 Song Plays: 73 Song Downloaded : 0 Song Duration : 16:36